Saturday, 2 December 2017

विदुर नीति संस्कृत श्लोक अर्थ सहित


Vidur Niti in Hindi -

महात्मा विदुर धर्म के अवतार माने जाते हैं। माण्डव ऋषि के श्राप से उन्हें शूद्रयोनि में जन्म लेना पड़ा। ये महाराज विचित्रवीर्य की दासी के गर्भ से उत्पन्न हुए थे। इस प्रकार ये पाण्डु और धृतराष्ट्र के एक तरह से सगे भाई थे। विदुर बड़े ही बुद्धिमान, नीतिज्ञ, धर्मज्ञ, विद्वान, सदाचारी एवं भगवदभक्त थे।
“विदुर नीति” महाभारत का एक प्रमुख भाग है जिसमे महात्मा विदुर जी ने राजा धृतराष्ट्र को लोक-परलोक में कल्याण करने वाली बातें बताई हैं। आइये हम उनके कुछ अनमोल वचनों को जानते हैं :

विदुर नीति संस्कृत श्लोक अर्थ सहित

Vidur Niti in Hindi 

महात्मा विदुर की नीति

श्लोक 1 :

निषेवते प्रशस्तानी निन्दितानी न सेवते।
अनास्तिकः श्रद्धान एतत् पण्डितलक्षणम्।।


अर्थ: जो अच्छे कर्म करता है और बुरे कर्मों से दूर रहता है, साथ ही जो ईश्वर में भरोसा रखता है और श्रद्धालु है, उसके ये सद्गुण पंडित होने के लक्षण हैं।

श्लोक 2 :

न ह्रश्यत्यात्मसम्माने नावमानेन तप्यते।
गंगो ह्रद इवाक्षोभ्यो य: स पंडित उच्यते।।


अर्थ: जो अपना आदर-सम्मान होने पर ख़ुशी से फूल नहीं उठता, और अनादर होने पर क्रोधित नहीं होता तथा गंगाजी के कुण्ड के समान जिसका मन अशांत नहीं होता, वह ज्ञानी कहलाता है।।


श्लोक 3 :

अनाहूत: प्रविशति अपृष्टो बहु भाषते।
अविश्वस्ते विश्वसिति मूढ़चेता नराधम: ।।


अर्थ: मूढ़ चित्त वाला नीच व्यक्ति बिना बुलाये ही अंदर चला आता है, बिना पूछे ही बोलने लगता है तथा जो विश्वाश करने योग्य नहीं हैं उनपर भी विश्वाश कर लेता है।

श्लोक 4 :

अर्थम् महान्तमासाद्य विद्यामैश्वर्यमेव वा।
विचरत्यसमुन्नद्धो य: स पंडित उच्यते।।


अर्थ: जो बहुत धन, विद्या तथा ऐश्वर्यको पाकर भी इठलाता नहीं चलता, वह पंडित कहलाता है।

श्लोक 5 :

एक: पापानि कुरुते फलं भुङ्क्ते महाजन: ।
भोक्तारो विप्रमुच्यन्ते कर्ता दोषेण लिप्यते।।


अर्थ: मनुष्य अकेला पाप करता है और बहुत से लोग उसका आनंद उठाते हैं। आनंद उठाने वाले तो बच जाते हैं; पर पाप करने वाला दोष का भागी होता है।

श्लोक 6 :

एकं हन्यान्न वा हन्यादिषुर्मुक्तो धनुष्मता।
बुद्धिर्बुद्धिमतोत्सृष्टा हन्याद् राष्ट्रम सराजकम्।।


अर्थ: किसी धनुर्धर वीर के द्वारा छोड़ा हुआ बाण संभव है किसी एक को भी मारे या न मारे। मगर बुद्धिमान द्वारा प्रयुक्त की हुई बुद्धि राजा के साथ-साथ सम्पूर्ण राष्ट्र का विनाश कर सकती है।।

श्लोक 7 :

एकमेवाद्वितीयम तद् यद् राजन्नावबुध्यसे।
सत्यम स्वर्गस्य सोपानम् पारवारस्य नैरिव।।


अर्थ: विदुर धृतराष्ट्र को समझाते हुए कहते हैं : राजन ! जैसे समुद्र के पार जाने के लिए नाव ही एकमात्र साधन है, उसी प्रकार स्वर्ग के लिए सत्य ही एकमात्र सीढ़ी है, कुछ और नहीं, किन्तु आप इसे नहीं समझ रहे हैं।

श्लोक 8 :

एको धर्म: परम श्रेय: क्षमैका शान्तिरुक्तमा।
विद्वैका परमा तृप्तिरहिंसैका सुखावहा।।


अर्थ: केवल धर्म ही परम कल्याणकारक है, एकमात्र क्षमा ही शांति का सर्वश्रेष्ठ उपाय है। एक विद्या ही परम संतोष देने वाली है और एकमात्र अहिंसा ही सुख देने वाली है।

श्लोक 9 :

द्वाविमौ पुरुषौ राजन स्वर्गस्योपरि तिष्ठत: ।
प्रभुश्च क्षमया युक्तो दरिद्रश्च प्रदानवान्।।


अर्थ: विदुर धृतराष्ट्र से कहते हैं : राजन ! ये दो प्रकार के पुरुष स्वर्ग के भी ऊपर स्थान पाते हैं – शक्तिशाली होने पर भी क्षमा करने वाला और निर्धन होने पर भी दान देनेवाला ।

श्लोक 10 :

त्रिविधं नरकस्येदं द्वारम नाशनमात्मन: ।
काम: क्रोधस्तथा लोभस्तस्मादेतत्त्रयं त्यजेत्।।


अर्थ: काम, क्रोध, और लोभ – ये आत्मा का नाश करने वाले नरक के तीन दरवाजे हैं, अतः इन तीनो को त्याग देना चाहिए।

श्लोक 11 :

पन्चाग्न्यो मनुष्येण परिचर्या: प्रयत्नत: ।
पिता माताग्निरात्मा च गुरुश्च भरतर्षभ।।


अर्थ: भरतश्रेष्ठ ! पिता, माता अग्नि,आत्मा और गुरु – मनुष्य को इन पांच अग्नियों की बड़े यत्न से सेवा करनी चाहिए।

श्लोक 12 :

षड् दोषा: पुरुषेणेह हातव्या भूतिमिच्छिता।
निद्रा तन्द्रा भयं क्रोध आलस्यं दीर्घसूत्रता।।


अर्थ: ऐश्वर्य या उन्नति चाहने वाले पुरुषों को नींद, तन्द्रा (उंघना ), डर, क्रोध,आलस्य तथा दीर्घसूत्रता (जल्दी हो जाने वाले कामों में अधिक समय लगाने की आदत )- इन छ: दुर्गुणों को त्याग देना चाहिए।

श्लोक 13 :

षडेव तु गुणाः पुंसा न हातव्याः कदाचन।
सत्यं दानमनालस्यमनसूया क्षमा धृतिः।।


अर्थ: मनुष्य को कभी भी सत्य, दान, कर्मण्यता, अनसूया (गुणों में दोष दिखाने की प्रवृत्तिका अभाव ), क्षमा तथा धैर्य – इन छः गुणों का त्याग नहीं करना चाहिए।

श्लोक 14 :

षण्णामात्मनि नित्यानामैश्वर्यं योधिगच्छति।
न स पापैः कुतो नर्थैंर्युज्यते विजेतेँद्रियः।।


अर्थ: मन में नित्य रहने वाले छः शत्रु – काम, क्रोध, लोभ, मोह, मद तथा मात्सर्य को जो वश में कर लेता है, वह जितेन्द्रिय पुरुष पापों से ही लिप्त नहीं होता, फिर उनसे उत्पन्न होने वाले अनर्थों की बात ही क्या है।

श्लोक 15 :

ईर्ष्यी घृणी न संतुष्टः क्रोधनो नित्याशङ्कितः।
परभाग्योपजीवी च षडेते नित्यदुः खिताः।।


अर्थ: ईर्ष्या करने वाला, घृणा करने वाला, असंतोषी, क्रोधी, सदा संकित रहने वाला और दूसरों के भाग्य पर जीवन-निर्वाह करने वाला – ये छः सदा दुखी रहते हैं।

श्लोक 16 :

अष्टौ गुणाः पुरुषं दीपयन्ति
प्रज्ञा च कौल्यं च दमः श्रुतं च।
पराक्रमश्चाबहुभाषिता च
दानं यथाशक्ति कृतज्ञता च।।


अर्थ: बुद्धि, कुलीनता, इन्द्रियनिग्रह, शास्त्रज्ञान, पराक्रम, अधिक न बोलना, शक्ति के अनुसार दान और कृतज्ञता – ये आठ गन पुरुष की ख्याति बढ़ा देते हैं।

श्लोक 17 :

प्राप्यापदं न व्यथते कदाचि-
दुद्योगमन्विच्छति चाप्रमत्तः।
दुःखं च काले सहते महात्मा
धुरन्धरस्तस्य जिताः सप्तनाः।।


अर्थ: जो धुरंधर महापुरुष आपत्ति पड़ने पर कभी दुखी नहीं होता, बल्कि सावधानी के साथ उद्योग का आश्रय लेता है तथा समय पर दुःख सहता है, उसके शत्रु तो पराजित ही हैं।

श्लोक 18 :

यो नोद्धतं कुरुते जातु वेषं
न पौरुषेणापि विकत्थतेन्यान।
न मूर्छित: कटुकान्याह किञ्चित्
प्रियं सदा तं कुरुते जानो हि।।


अर्थ: जो कभी उद्यंडका-सा वेष नहीं बनाता, दूसरों के सामने अपने पराक्रम की डींग नही हांकता, क्रोध से व्याकुल होने पर भी कटुवचन नहीं बोलता, उस मनुष्य को लोग सदा ही प्यारा बना लेते हैं।

श्लोक 19 :

अनुबंधानपक्षेत सानुबन्धेषु कर्मसु।
सम्प्रधार्य च कुर्वीत न वेगेन समाचरेत्।


अर्थ: किसी प्रयोजन से किये गए कर्मों में पहले प्रयोजन को समझ लेना चाहिए। खूब सोच-विचार कर काम करना चाहिए, जल्दबाजी से किसी काम का आरम्भ नहीं करना चाहिए।

श्लोक 20 :

भक्ष्योत्तमप्रतिच्छन्नं मत्स्यो वडिशमायसम्।
लोभाभिपाती ग्रस्ते नानुबन्धमवेक्षते।।


अर्थ: मछली बढ़िया चारे से ढकी हुई लोहे की कांटी को लोभ में पड़कर निगल जाती है, उससे होने वाले परिणाम पर विचार नहीं करती।

Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :)

हमेशा साथ रखते हैं रूमाल तो न करें ये 6 गलतियां, वरना होंगे कई नुकसान

Apne paas rumal to hamesha hona hee chahiye magar rumal jab rakhe to kuch baate dhyan me rakhe nahin to nuksan ho sakta hai. Dhyaan me rakhe yeh baate aur bach ke rahe nuksan se.

हमेशा साथ रखते हैं रूमाल तो न करें ये 6 गलतियां, वरना होंगे कई नुकसान

  1. Rumal hamesha light color ka hona chahiye. Dark colors se chitta ashant ho jaata hai aur kharab paristhiti khadi ho jaati hai.
  2. Rumal fata hua nahin hona chahiye aur us mein ched bhi nahin hona chahiye. Printed rumal ke badle plain rumal ka upyog kare aur printed use karna hai to bahut light prints hone chahiye.
  3. Rumal istemal karna hai to us ko fold kare aur voh bhi 4 ya to 6 fold jo ki lucky number maane jate hai. 3 aur 5 baar fold kiya rumal lucky nahin hai aur nuksan karta hai.
  4. Rumal hamesha saaf hona chahiye aur har roj washed rumal ka upyog kare. Vaastu me aisa mana jaata hai ki bina dhoye rumal dusre din upyog kare to us me negative energy hota hai.
  5. Rumal saaf rakhe aur us par pen ya pencil se kuch bhi na likhe. Aisa kiya to dimag ka santulan par asar hota hai aur ekagrata nahin rehti hai.
  6. Apna rumal personal item hai. Kisi aur ko upyog karne na de aur aap bhi kisi aur ka rumal upyog na kare kyonki rumal se judi hoti hai vyakti ki negative aur positive energy jo exchange ho ke nuksan kar sakti hai.
Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :)

मर्दों की इन आदतें को चाहकर भी नहीं सुधार पाती महिलाएं | Man will be man

Koi bhi perfect nahin hota hai magar mardo me kai aisi aadat hai jo apne mahila partner ko khaas irritate karti hai. Purusho ko yeh dhyan me rakhna hoga aur sudharne se relationship aur meethi ho jayegi. 

मर्दों की इन आदतें को चाहकर भी नहीं सुधार पाती महिलाएं!



Points..
  1. Ghumne gaye ho to mard yeh show off karta hai ki use sab kuch maloom hai aur voh rasta tak nahin poochta hai anjaan jagah par jis ka parinam yeh hota hai ki aise hi vakt barbaad hota hai sahi jagah dhoondhne mein.
  2. Jhoot bolna jaise ki mamooli baat hai magar wife ya partner ko yeh bilkul pasand nahin hai ki bina vajah us ka mard us ko jhoot bolta rahe.
  3. Tulna karna bhi ek kamjori hai mardo ki. Hamesha voh apne ma, behen, padosi, colleague ya kisi aur ke saath apni biwi ki tulna karta rahega yeh soche bina ki us ki biwi ko kitna bura lagta hai ya gussa aata hai. Har ek vyakti alag hota hai aur tulna mein koi fayda nahin hai.Games mardo ki kamzori hai. Agar voh khud khelte nahin hai to cricket, football aur basketball TV par dekhne me itne doob jaate hai ki un ko apne partner ka khayal nahin rehta hai.
  4. Public me nak me ungli dalna, khujli karna aadi se bhi mahila khoob irritate ho jaati hai.
  5.  Doosri mahila ke sath flirt karna yane apne partner ko irritate karna.
  6. Pyar karne ke baad turant so jaana.

Pyare purusho, apne pyari pyari partner ko khush rakhne ke liye aisa kuch na kare jis se voh irritate ho. Jaroor daant padegi.



Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :)

Kitchen tips in hindi : किचन/रसोई के लिए बेहतरीन टिप्स और ट्रिक्स


Kitchen tips in hindi : Kitchen ko ghar ka heart maana gaya hai aur sahi mein bina kitchen ke ghar ghar nahin hota hai. Western countries me dekhe to kitchen kaafi bada hota hai jahan par dining table ho sakta hai aur is ke aas paas family members sabhi ekatrit ho ke shaam ko apas mein baat chit karte hai. Rasoi ghar me bhi paramparagat taur par sabhi sadasya baith ke bhojan karte hai. Vaastu mein bhi kitchen ke location ka aur us ke andar agni sthan ke liye clear cut directions hai. 


Shehro ke apartments mein aaj kal kitchen sirf cooking ke liye suit ho aise chote chote banaye jaate hai. Fir bhi, kitchen me khaana pakta hai jo poore family ko swasth aur tandurast rakhta hai. Kitchen jitna well organized hoga, itna aap ko us par garv hoga aur kaam karne mein aasaani rahegi. Is ke alava thodasa jankari ho to aap ko aur bhi cooking ka anand uthayenge. Yahan par prastut hai kitchen tips in Hindi jo aap ko jaroor kaam mein ayenge.
 

Vastu tips for kitchen-

Shuru karte hai vastu tips for kitchen se.

1.) Vastushastra mein kitchen ghar mein north-east yaane ishan disha mein hona chahiye. Ishan agni sthan hai. Kitchen mein bhi agni sthan aise kitchen ke ishan jagah par rakhe aur jab rasoi karte ho to chehra east ki taraf hona chahiye. Chulha yane gas stove darwaja ke samne na ho is ka khayal rakhe.

2.) Kitchen vastu tips in Hindi me jaaniye ki cooking platform kitchen ke south east disha me ho aur platform L akar me ho jo south disha me ho aur is par oven, mixer, jaise appliance rakhe. 

3.) Kitchen ke north east me wash basin ho jo gas stove se duri me ho. 

4.) North-east side par paani ka matka rakhe. 

5.) Khana banane ki samagri south ya west disha me rakhe. 

6.) Dining table kitchen me rakhna ho to north-west ya west disha mein rakhe. 

7.) East side par window rakhe. 

8.) Din ke shuruat me jab bhi gas jalaye to agni dev ko kuch bhi offering kare. 

9.) Kitchen ko hamesha raat ko bilkul saaf kar ke rakhe,koi bhi khadya padarth palatform me na ho aur kachra ho to bahar dabbe me daal de.

Yeh to mumkin nahin hai sabhi ko kyonki aajkal apartments mein log rehte hai aur sabhi kitchen is ideal position mein sthit nahin hote hai. Is ke liye vastu dosh nivaran prayog kare. 

Kitchen tips and tricks in Hindi-

Kitchen me aap ko cooking se sambandhit kai aise karya karne padte hai aur alag alag prakar ke samagri handle karne hote hai aur process karne hote hai. In kitchen tips and tricks in Hindi se aap ka kaam aasaan ho jayega.
  •     Rasoi ghar me kaam karna hai to pehle head covering pehne aur apron pehne. Head covering se baal jhad ke khane me girne ki shakyata nahin rehti hai. Apron pehne to aap ke kapde par daag nahin lagenge.
  •     Rasoi ghar me light jyaada chahiye to khidki khuli rakhe aur light bhi bright ho aisa upyog kare.


Practical food preparation kitchen tips-


1.) Aata goothna hai to disposable gloves pehen ke kare to haath dhone ki jhanjhat nahin rehti hai.
 
2.) Roti naram banana hai to aata ko garam paani daal ke goothe. 

3.) Roti tasty banana hai to aata mein doodh ya dahi daale. 

4.) Halka fulka roti banana hai to ek-do chutki khane ka soda aate mein milaye aur tel bhi daale. 

5.) Noodles ya pasta banaye to ubalte paani se nikal ke seedha thanda paani me daale to ek doosre ke saath chipkenge nahin. Thande pani me daal ke turant nikal de aur ek chamach tel ke saath bowl me toss kare.
 
6.) Bhale kam quantity me kuch bhi banana hai, jaise ki sirf ek cup chai, to bhi bada bartan le jo chauda ho. Is ke do fayde hai. Ek, yeh gas ka flame ka pura upyog karega aur energy efficiency badhega. Doosra, doodh ubal ke bahar nahin ayega aur jo kuch karna hai voh jaldi ho jayega.
 
7.) Lehsun chilna hai to tave par halka garam kar ke thanda kare.
 
8.) Chaval ubalte samay thodasa nimbu ka ras aur ek chamach ghee ya tel daale to daane alag rahenge.
 
9.) Alu ubalte ho to thoda namak dale paaniye to chilka asani se niklega.
 
10.) Fool gobhi pakate ho to thodasa doodh daal ke pakaye to rang nahin bigdega.
 
11.) Vegetables ka green color pakate samay maintain karna hai to thodasa nimbu ka ras chidke cooking waqt aur dhakkan na lagaye. Paani bhi kam se kam upyog kare.
 
12.) Chane aur aise sabut dal ko pakane ke pehle ek raat bhigona padta hai magar samay nahinhai to bilkul garam paani me bhigoye to ek ghante mein hee voh naram ho jayenge.

Practical food storage kitchen tips in Hindi-

  • Dal, gehu aur anaj ko keedo se bacha ke rakhna hai to container me do-teen boond aerandi ka tel daal de.
  • Chini rakhne ke jar mein 1-2 laung rakhe to keede nahin aayenge.
  • Chinti ko door rakhne ke liye pyaj ghise platform par aur anya jagah par aur lal mirch chidak de. Borax ko bikher de chini ke sath masalne ke baad to chinti inhe leke apne ghar tak pahunchege aur borax un sab ko jad mool se nash kar dega.
  • Lal mirch ke jar me ek hing ka tukda rakhe to us me fungus nahin hoga aur lambe samay tak mirch fresh rahega.
  • Platform par nimbu ka chilka ghise
  • Tulsi ke patte bikhra de aur tulsi ko bhi ghise alag jagah par to chinti, machar, keede nahin ayenge.
  • Pyaaj ek saath kaat ke fridge me rakhna hai to paani ke bowl ke andar rakh ke store kare.
  • Fridge me pyaj aur anya cheez rakhen to smelly ho jaata hai. Nimbu kat ke rakhe fridge me to smell nahin ayega.
  • Season me fresh matar milte hai. Deep freezer me mahino tak rahenge magar store karne ke pehle ubalte paani me daale, ek minute tak rakhe, nikale, aur paani chan ke fir plastic ke bag me ya jar me rakh ke freezer me rakhe.
  • Jitna jaroori hai itne hee samaan kharide aur turant upyog kar le. Lambe samay tak kuch bhi pada rahega to insects ko attract karega. Har ke samagri ko air tight container me rakhe, khulla na rehne de.

Bartan tips-

Naye bartan par ke sticker ko hatana hai to gar ke upar garam kar sakte hai magar color vala bartan hoga to is par asar ho sakta hai to aap petrol ka upyog kare.
Kitchen cleaning tips

Jaaniye kitchen cleaning tips in Hindi jo aap ko har roj kaam me ayenge:-

  1. Kitchen me hamesha hydrogen peroxide aur potassium permanganate rakhe. Fal aur sabji jo chilke ke saath khate hai, hare patti vali sabji jo kachcha khate hai to unhe jo paani me dhoye us pani me ek chamach hydrogen peroxide daale ya to 2-3 crystals potassium permanganate dale to pathogens aur keede nash honge.
  2. Raat ko sabhi kaam kaaj khatam karne ke bad, wash basin me bartan dhone ke baad, us me thodasa hydrogen peroxide or khane ka soda dale to pipe saaf honge aur bacteria ka nash hoga.
  3. Vinegar bhi kitchen me rakhe. Yeh bartan saf karne, platform saf karne me kaam ayega rasoi ke alava.  Floor aur platform saaf karte samay paani me vinegar mila ke poche.
  4. Oil to na chahe to bhi har jagah fail sakta hai. Is ke liye kitchen me kapde dhone ka powder ka upyog kare. Paste bana ke oil vale jagah par lagaye aur ghise.

Yeh hai thodese kitchen tips and tricks in Hindi jo kaam me aayenge.

Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :)

TAGS : #kitchen tips in hindi #kitchen tips and tricks in hindi #vastu tips for kitchen #किचन टिप्स और ट्रिक्स #kitchen cleaning tips in hindi #kitchen vastu tips in hindi #kitchen cleaning tips and tricks #house cleaning tips in hindi #indian kitchen tips and tricks #indian cooking tips in hindi #rasoi tips hindi me #kitchen cleaning tips and tricks

घर के लिए वास्तु टिप्स, Vastu Tips For Home in Hindi, वास्तु शास्त्र

घर के लिए वास्तु टिप्स, वास्तु शास्त्र टिप्स (Vastu Shastra Tips For Home in Hindi House) : हज़ारो साल पहले प्राचीन भारत मे प्रचलित था और आज कल फिर से वास्तु लोकप्रिय होता जा रहा है ना सिर्फ़ इंडिया में बल्कि दुनिया के दूसरे  देशो मे भी| जानिए वास्तु क्या है (ghar ka vastu hindi me) और यह अपने घर और जीवन से कैसे जुड़ी है और वास्तु से संरेखित रहे तो कितना सुखमय हो जाता है जीवन अपना| 

घर के लिए वास्तु टिप्स, Vastu Tips For Home in Hindi, वास्तु शास्त्र

#  वास्तु क्या है - What is vastu shastra in hindi


Vastu shastra kya hai in hindi : वास्तु का मूल वेदो मे है जो चार से पाँच हज़ार साल पहले रचित किया गया था| स्थापत्या वेद, जो अर्थवा वेद का एक भाग है उस मे वास्तु के बारे मे विस्तार मे लिखा गया है| इस का उल्लेख विष्णु पुराण, गरुड़ पुराण, अग्नि पुराण, स्कंदा पुराण और मातायस्य पुराण मे भी पाया जाता है|
वास्तु का संबंध घर या निवास स्थान से है और यह घर और निवास स्थान हो, बिज़्नेस की जगह हो या मंदिर हो, इन सभी के लिए खास नियम है जो दिशा से जुड़ी है और इन नियमो के अनुसार प्रकृति से सामन्जस्य बनाना और पाँच तत्वो (पृथ्वी, अग्नि, वायु, जल और आकाश) और प्राकृतिक उर्जा के बीच मे संतुलन बनाए रखना उचित होता है शांतिमय जीवन के लिए और स्वस्थ के लिए भी| यह सामन्जस्य और संतुलन बनाए रखने के लिए खास नियम है घर या किसी भी स्थल के निर्माण के लिए| जानिए घर के लिए वास्तु टिप्स (vastu tips in hindi for home)और वास्तु से जीवन सुधारे| वास्तु शास्त्र (Vastu shastra in hindi) मे जानिए की स्पष्ट नियम है घर के निर्माण और दिशाओ से जुड़ी और कमरे के बारे मे भी| पढ़ते रहिए और जानिए घर का नक्शा वास्तु के अनुसार (Vastu map for home in hindi)|

# घर का नक्शा वास्तु के अनुसार - Vastu shastra in hindi for home map

Vastu shastra for home plan in hindi: वास्तु शास्त्र (Vastu shastra in Hindi) मे जानिए की वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का नक्शा बनाने के कुछ नियम है| इस नियमो के अनुसार घर का लोकेशन और रचना किया जाए तो जीवन सुखमय और प्रगतिशील होगा| यह क्या है पढ़ते रहिए आगे:
अगर आप भाग्यशाली है की प्लॉट खरीद कर घर बना सकते है तो वास्तु मे इन के लिए यह सूचना है| प्लॉट का आकार अगर चोरस हो तो यह उचित है, लम्बा चौरस भी ठीक है मगर त्रिकोण ना हो| दक्षिण और पश्चिम के तरफ का भाग उँचा हो और पूर्व और उत्तर का भाग नीचे हो तो समृद्धि मिलती है| प्लॉट के चारो और रास्ते हो तो उत्तम है मगर दो भी हो तो चलेगा| उत्तर और पूर्व के तरफ रास्ते हो यह उचित है| प्लॉट का मुख पूर्व की और हो यह उत्तम माना जाता है| विस्तार मे जाए तो और भी सूचना है मगर यह बेसिक है|

सभी को यह भाग्य नहीं होता है| ज़्यादातर हमे जो अपार्टमेंट मिलते है उसे स्वीकार करना पड़ता है और इसमे वास्तु दोष होते है| तो इस का भी उपाय है वास्तु रेमेडीस द्वारा|

वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का निर्माण - Vastu shastra for home construction in hindi

आगे जानिए घर का निर्माण और वास्तु के नियम (Vastu shastra tips for home construction plan in Hindi):
  1. वास्तु के अनुसार घर की रचना करे तो उत्तर की दिशा मे ज़्यादा से ज़्यादा दरवाजे और खिड़की रखे|
  2. घर का मुख्य द्वार पूर्व या तो उत्तर की और खुलता हो तो उचित है|
  3. वास्तु शास्त्र के अनुसार शौचालय घर के दक्षिण दिशा मे ना रखे| यह धन स्थान है|
  4. पश्चिम और दक्षिण दिशा मे सीढ़ियाँ सीधी हो तो उत्तम माना गया है वास्तु शास्त्र में|
  5.  वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में टॉयलेट और रसोई घर को पश्चिम दिशा मे स्थापित करे|
  6. इशान दिशा याने की नार्थईस्ट दिशा जल का स्थान है तो पानी की टंकी इस जगह पर रखे तो घर मे सुख समृद्धि का वास होगा| चाहे तो मुख्य द्वार भी इस दिशा मे रखे तो लाभकारी और शुभ है|
  7. घर के उत्तर पश्चिम याने की वायव्य दिशा मे बेडरूम और गेराज की योजना बनाए तो सुखद होगा जीवन
  8. दक्षिण पूर्व दिशा को अग्नि स्थान कहा जाता है याने की आग्नेय स्थान जिस दिशा मे गैस का सिलेंडर रखे रसोई घर के अंदर |
  9. दक्षिण पश्चिम याने की नेतृत्व दिशा मे कोई भी दरवाजा या खिड़की ना हो इस का ध्यान रखे|
  10.  वास्तु के साथ ज्योतिष का सहारा भी लिया जाता है घर की रचना और निर्माण मे| ऐसे तो शहर और व्यक्ति की राशि एक हो तो सुखदायी माना जाता है| गहराई मे जाए तो और भी ऐसे वास्तु ज्योतिष के नियम है मगर आज के जमाने मे इन का मेल बिठाना मुश्किल है| इन सभी के लिए वास्तु रेमेडीस है जो 400 वास्तु टिप्स मे आप जान सकेंगे| 
  11. पूरे घर का ही नही मगर घर के अंदर के कमरे का भी वास्तु होता है और हर एक कमरे के अंदर भी वास्तु नियम अनुसार चले तो घर मे सुख समृद्धि और स्वस्थ बरकरार रहते है|
  12. उत्तर और पूर्व दिशा मे जगह ज़्यादा रहने दे जब घर का रचना करे| प्लॉट के दक्षिण और पश्चिम दिशा मे जगह कम रहने दे|
  13. वास्तु के अनुसार घर (Vastu tips for house) प्लानिंग मे घर का प्रमाण लंबाई और चौड़ाई बराबर का रखे या तो 1:1|5 की मात्रा मे|
  14. प्लॉट मे घर बनाए तो दक्षिण और पासचिं जगह उत्तर और पूर्वा दिशा से उचई पर रखे|
  15. घर का ऊँचाई दक्षिण और पश्चिम भाग मे पूर्व और उत्तर से ज़्यादा रखे|
  16. छत पर पानी की टंकी हमेशा दक्षिण-पश्चिम कोने मे रखे| अंडरग्राउंड टैंक हो तो उत्तर-पूर्वा दिशा पसंद करे|
  17. घर के निर्माण के पहले भूमि पूजा ज़रूर करे अच्छे मुहूरत मे| यह भी उत्तर पूर्व कोने मे ही करे|
  18. वास्तु शास्त्र के टोटके में कहा जाता है की अगर घर का निर्माण शुरू करे तो बीच मे कभी ना रुके| संपूर्ण कर के ही रहने दे|

# वास्तु के अनुसार मंदिर की दिशा - Vastu for mandir in home in hindi

घर और अंदर के कमरे की रचना मे दिशा महत्वपुर्ण भाग निभाते है| घर को अगर एक चौरस आकार समझे तो घर के अंदर वास्तु पुरुष जो बैठा है उस का मस्तक और सर इशान कोने मे होता है, बाहे उत्तर और पूर्वा दिशा मे, कोनी और घुटने वायव्य और आग्नेय नैरित्य स्थान मे और पैर नैरित्य स्थान मे| घर मे मंदिर और पूजा स्थान को महत्व का स्थान दिया गया है और मंदिर के लिए सब से उचित स्थान है नार्थईस्ट याने की इशान कोना या तो उत्तर का भाग| हमेशा पूजा स्थान ग्राउंड फ्लोर पर होता है और कभी भी सीढ़ी के नीचे नहीं होना चाहिए| वास्तु के अनुसार घर (Vastu tips for house) मंदिर मे आगे जानिए की मंदिर वाले कमरे की दीवार को सफेद, हल्का नीला या हल्का पीला रंग करे और कपबोर्ड हो तो यह कमरे के पश्चिम या दक्षिण दिशा मे रखे| मंदिर और मूर्ति इशान दिशा (नार्थईस्ट) मे रखे और दरवाजा बिल्कुल मंदिर के सामने ना हो, इस का ध्यान रखे| मंदिर मे दीपक और अग्नि कुंड आग्नेय दिशा मे रखे| जो कमरे मे मंदिर हो वो कमरा किसी और उपयोग मे ना ले तो उचित होगा घर के वास्तु उपाय (vastu shastra in hindi) के अनुसार| मंदिर वाले कमरे मे कभी भी अँधेरा ना हो, एक छोटा बल्ब हमेशा जलता  के रखे|

सामन्जस्य और संतुलन बनाए रखने के लिए सरल वास्तु टिप्स है रसोई घर के लिए, शयन कक्ष के लिए और घर के अन्य भागो के लिए| पढ़ते रहे घर के वास्तु टिप्स (vastu tips in Hindi for home) और हो सके वहाँ तक अपनाए| जहाँ मुमकिन नहीं है वहाँ पर वास्तु रेमेडीस (vastu remedies)का सहारा ले|


# वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार - Vastu shastra for home entrance in Hindi

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का मुख्य द्वार अगर पूर्व की तरफ हो तो उत्तम है क्योंकि सवेरे की सूरज की किरण घर के अंदर प्रवेश करे तो घर को स्वच्छ बना देती है| घर का मुख्य द्वार कभी भी दक्षिण पूर्व मे ना हो इस का ध्यान रखे| अगर अापने घर खरीदा है जिस का मुख्य द्वार दक्षिण की और है तो एक और दरवाजा बनाए जो उत्तर की और हो| उत्तर पश्चिम या पश्चिम -उत्तर दिशा भी मुख्य द्वार के लिए सूचनीय है वास्तु के अनुसार मुख्य द्वार के लिए वास्तु टिप:
  •     यह द्वार सब से बड़ा हो कद मे इस का ध्यान रखे और इस के दो भाग होने चाहिए|
  •     दरवाजा खुले तो कोई आवाज़ ना हो|
  •     मुख्या द्वार के उपर लाइट बल्ब लगाए|
  •     चौखट बनाए ताकि धन हानि ना हो|

# बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स - Vastu tips for bedroom in hindi

वास्तु मे बेडरूम याने शयन कमरे को घर के अंदर एक विशेष स्थान है और इस कमरे के अंदर का वास्तु के बारे मे भी सोचा जाता है| यह है चुने हुए बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स (vastu for bedroom in hindi) :
  • मुख्य शयन कमरा घर के दक्षिण दिशा मे स्थापित करे| इस से और उत्तम है दक्षिण-पश्चिम दिशा| दूसरे कमरे हो तो वो पूर्व और उत्तर दिशा मे रखे| दरवाजा पूरा खुले इस तरह रचना करे और दरवाजा के आजू बाजू कोई अड़चन ना रखे|
  • बेडरूम का आकर चौरस या तो लंबा-चौरस हो इस का ध्यान रखे| दीवारो का रंग हल्का हो और सफेद, नीला और हरा रंग का उपयोग करे|
  • बेडरूम मे मंदिर या देव देवी की मूर्ति ना रखे|
  • कमरे के अंदर पलंग इस तरह से रखे की सोने वाले का सर दक्षिण दिशा मे रहे| उत्तर मे कभी ना हो| पलंग के सामने आईना ना रखे|
  • पलंग के नीचे कोई भी चीज़ ना रखे|

# वास्तु के अनुसार रसोई की दिशा - Vastu tips for kitchen in hindi

रसोई घर का विशेष स्थान है घर मे और रसोई घर को भी घर मे विशेष स्थान पर ही स्थापित करे| यह है किचन के लिए वास्तु टिप्स (vastu for kitchen in hindi):
  1. किचन को हमेशा आग्नेय स्थान याने की दक्षिण-पूर्वा दिशा मे रखे| यह जगह उचित ना हो तो फिर उत्तर-पश्चिम दिशा को चुने| उत्तर-पूर्वा, उत्तर का मध्य भाग, दक्षिण-पश्चिम ओर पश्चिम या तो पश्चिम जगह उचित नहीं है|
  2. प्लॅटफॉर्म को रसोई घर मे उत्तर का दीवार और पूर्व के दीवारो से दूर रखे| ऐसे स्थापित करे की जब रसोई करते हो तो चेहरा पूर्व की तरफ हो|
  3. सिंक को गैस की सिगड़ी से दूर रखे और सींक को उत्तर-पूर्व दिशा मे रखे|
  4. यंत्र जैसे की रेफ्रीजिरेटर है उस को दक्षिण पश्चिम दिशा मे रखे| अन्य यंत्रो को दक्षिण पूर्व कोने मे रखे|
  5. साधन सामग्री को कपबोर्ड मे रखे|
  6. खिड़की हमेशा पूर्व दिशा मे खुले ऐसा रखे|
  7. रसोई घर से जुड़े कोई टाय्लेट या बातरूम ना रखे|

यह है सरल वास्तु रसोई घर के लिए| ऐसा आदर्श रसोई घर तो सभी के नसीब मे नहीं होता है इसीलिए वास्तु रेमेडीस का सहारा ले तो वास्तु दोष कम होगा|

# स्वास्थ्य के लिए वास्तु टिप्स - Vastu tips for good health in hindi

वास्तु का ध्येया यह है की जो व्यक्ति उस घर मे रहता है वो प्रकृति के साथ संतुलन बनाए रखे और स्वस्थ बना रहे| वास्तु मे नियम है स्वस्थ बनाए रखने के लिए| यह है अच्छी सेहत के लिए वास्तु उपाय (tips for good health in Hindi):
  1. घर के मध्य भाग मे सीढ़ी ना रखे| मध्य भाग मे छत मे कोई बीम ना हो इस का ध्यान रहे रचना के समय|
  2. घर का हर एक कमरे की सजावट ऐसा करे की कम से कम चीज़े हो और हवा और प्रकाश अच्छी तरह से कमरे मे दाखिल हो सके|
  3. सफाई अवश्य रखे और बिना ज़रूरी चीज़ो को फेंक दे|
  4. सोते समय सर को हमेशा दक्षिण की और रखे और बाए और सो जाए तो वता और कफा दोष का शमन होगा| पित्त दोष का शमन करना है तो दाहिने और सो जाए|
  5. ब्रह्म स्थान याने घर के मध्य भाग मे भारी फर्नीचर ना रखे|
  6. स्वस्थ बनाए रखने के लिए रसोई घर को अग्नि स्थान मे रखे और अगर ऐसा नहीं है तो अग्नि स्थान मे एक दिया जला के रखे| वास्तु रेमेडी मे दक्षिण वाले दरवाजे को हमेशा बंद रखे|
  7. दक्षिण दिशा मे हनुमानजी की मूर्ति रखे अगर घर का मुख दक्षिण की और रहता है|

वास्तु मे विस्तार से वर्णन है की युगल का कमरा कैसे हे, कैसे पेड़ पौधे उचित है घर के आँगन मे, वास्तु घर के पीछ वाड़े के लिए, पानी के लिए और शौचालय के लिए| यह सभी 400 वास्तु टिप्स मे जानिए और अगर वास्तु से संरेखित नहीं है तो वास्तु दोष निवारण के भी उपाय है|

Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :)

TAGS: #vastu shastra in hindi #vastu tips for home in hindi #vastu tips in hindi #vastu shastra tips #vastu shastra for home in hindi #vastu tips in hindi for house #vastu for home in hindi #vastu shastra in hindi for home #vastu shastra for house #vastu tips for wealth #vastu shastra tips in hindi for home #vastu shastra tips for home in hindi #vastu tips in hindi for home #vastu shastra for house in hindi #vastu shastra home in hindi #home vastu tips #ghar ka vastu hindi me #vastu ke anusar ghar in hindi #vastu shastra for home construction in hindi #vastu shastra home design #home vastu shastra in hindi

20 वास्तु टिप्स लक्ष्मी पाने के सरल उपाय - Vastu Tips in Hindi

वास्तु टिप्स (Vastu Tips in Hindi) : वास्तु एक विज्ञान भी है और एक कला भी| अथर्व वेद से जुड़ी स्थापत्या वेद मे इस का मूल है| वास्तु याने रहने की जगह और इस वास्तु शास्त्र (vastu shastra) मे है नियम जो दिशाओ से जुड़ी है और पाँच तत्वो से भी| मनुष्य के भीतर वही तत्त्व है जो बाहर है और अगर वो अपना घर और रहने और जीने का ढंग अगर दिशा और तत्वो से संरेखित करे तो घर मे, कुटुम्ब मे और खुद मे शांति और सुख होगा| आज के हालत मे यह तो मुमकिन नहीं है की हर कोई वास्तु के नियम अनुसार घर बना सके तो घर मे कोई ना कोई वास्तु दोष रह जाता है मगर वास्तु मे वास्तु दोष निवारण (vastu dosh nivaran) के लिए 400 वास्तु टिप्स (400 vastu tips in hindi) भी है जिस से यह दोष का असर कम कर सके| फिलहाल वास्तु शास्त्र टिप्स (vastu shastra tips in hindi) जानिए और यह घर वास्तु टिप्स (vastu tips for home) हो सके वहाँ तक अपनाए|

20 वास्तु टिप्स लक्ष्मी पाने के सरल उपाय - Vastu Tips in Hindi

  1. वास्तु डिरेक्शन्स (Vastu directions) याने वास्तु दिशा का बहुत ध्यान रखे|
  2. वास्तु टिप्स फॉर होम (Vastu tips for home in Hindi) के अनुसार से घर बाँधने के लिए प्लॉट खरीदे तो उससे संबंधित वास्तु का ज्ञान प्राप्त करे जो 400 वास्तु टिप्स की किताब से मिलेंगे|
  3. प्लॉट के लिए (Plot ke liye) दक्षिण-पश्चिम, पश्चिम और पश्चिम दिशा उत्तम है|
  4. प्लॉट मे पश्चिम और दक्षिण के भाग का स्तर ऊँचा हो यह ध्यान मे रखे|
  5. अनार, अशोक, चंपा और चमेली के पौधे उगाए खुल्ले ज़मीन मे|
  6. घर की और उस के अंदर के रचना की बात आई तो वास्तु फॉर होम (vastu for home) के नियम अपनाये|
  7. घर वास्तु टिप्स (Ghar vastu tips) मे सब से महत्व की बात है मुख्य द्वार जो उत्तर- पूर्व, उत्तर या पूर्व दिशा मे हो और द्वार के उपर एक स्वास्तिक का चिन्ह् ज़रूर रखे, ओम के साथ|
  8. लिविंग रूम वास्तु टिप (vastu tip) है की यह घर के अंदर उत्तर, उत्तर-पूर्व या पूर्व दिशा मे हो|
  9. बेडरूम को दक्षिण-पश्चिम, दक्षिण या पश्चिम भाग मे रखे और बेड को उत्तर-दक्षिण दिशा मे रखे ऐसे की सोते समय सर हमेशा दक्षिण की और रहे|
  10. शयन कक्ष मे आईना ना रखे और रखे तो बेड से दूरी पर और रात को कपड़े से ढँक दे यह बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स (vastu tip in hindi for house bedroom) वश्य ध्यान मे रखे|
  11. घर वास्तु टिप्स मे रसोई घर हमेशा दक्षिण-पूर्वी भाग मे हो या तो उत्तर-पश्चिम या पूर्व दिशा मे हो|
  12. रसोई घर मे दवाई ना रखे|
  13. रसोई घर मे गॅस को दक्षिण-पूर्व स्थान जो अग्नि स्थान है वहाँ पर स्थित करे|
  14. रसोई करते समय चेहरा पूर्व की और रखे|
  15. वास्तु शास्त्र अनुसार बाथरूम और टाय्लेट हमेशा उत्तर-पश्चिमी भाग मे रखे या तो पश्चिम या दक्षिण भाग में|
  16. कोई वास्तु दोष रह जाए तो वास्तु दोष निवारण के लिए हर साल या हर तीन साल श्री गणेश पूजा ज़रूर करे|
  17. घर मे नमक के क्रिस्टल्स का कटोरा रखे और ताजे नींबू को एक ग्लास पानी मे रखे जो हर हफ्ते या हर रोज बदलते रहे|
  18. घर के लिए वास्तु टिप्स (Vastu shastra for home in hindi) मे जानिए की दक्षिण दिशा मे सीढ़ी रखे, कभी भी उत्तर दिशा मे नहीं|
  19. घरेलू वास्तु टिप्स (Vastu tips in Hindi for house) मे पानी का स्थान बहुत महत्पूर्ण है|
  20. अंडरग्राउंड पानी का टैंक हमेशा उत्तर-पूर्व दिशा मे हो
  21. ओवरहेड टैंक हमेशा पश्चिम या दक्षिण-पश्चिम दिशा मे रखे|
  22. सरल वास्तु शास्त्र (Saral vastu shastra) के अनुसार उत्तर दिशा उत्तम है तिजोरी के लिए और बाल्कनी के लिए|
  23. वास्तु टिप्स (Vasthu tips) मे उत्तर-पूर्व दिशा पूजा स्थान है और यहाँ मंदिर स्थापित करे जो दीवार से थोड़ी दूरी पर रखे|
  24.  घर वास्तु टिप्स (Vastu shastra for home in hindi) के अनुसार घर के अंदर हर एक कमरे का स्थान है और ऐसे ही घर के हर एक कमरे मे हर एक चीज़ भी सोच समझ कर रखनी चाहिए|
  25. घर मे कचरा और बिना ज़रूरी समान ना रखे और फ़ौरन निकाल दे|
  26. भारी समान हमेशा कमरे के दक्षिण दीवार के साथ सटा के रखे|
  27. कमरे के उत्तर और पूर्वी दीवार हो सके इतनी खाली रखे या हल्के समान रखे|
  28. खिड़की और दरवाजे को अड़चन रूप हो ऐसा कोई समान ना सजाए| घर के दक्षिण और पश्चिम दीवारो पर आईना ना रखे|
  29. घर के छत मे बीम हो तो यह वास्तु दोष है
  30. बीम के वास्तु दोष निवारण (vastu dosh nivaran) के लिए कभी भी बीम के नीचे बेड ना रखे और बीम को ढक दे फॉल्स सीलिंग से और बैम्बू के पोल बीम के आजू बाजू खड़े  कर दे|
  31. इंडियन वास्तु शास्त्र (Indian vastu shastra) के अनुसार लिविंग रूम और बेडरूम सही दिशा मे स्थापित ना कर सके तो हर रोज इन कमरो मे ताजे फूलो का गुलदस्ता रखे तो दोष निवारण होगा|
  32. वास्तु शास्त्र होम फर्नीचर (Vastu shastra home furniture) के लिए यह है की हमेशा साल, शीशम या साग के लकड़ी से बनाए|
  33. वास्तु शास्त्र के टोटके (Home vastu tips in Hindi) मे यह भी जानिए की हो सके तो हर एक कमरे का दरवाजा पूर्व की और हो|
  34. आदर्श वास्तु हाउस (vastu house) भले ना हो पर घर मे काम करे या पढ़ाई तो चेहरा हमेशा पूर्व या उत्तर की और रखे|

ऐसे तो और भी अनगिनत वास्तु टिप्स इन हिन्दी फॉर हाउस है जो 400 वास्तु टिप्स इन हिन्दी मे आप पढ़ सकेंगे मगर यह नीव के वास्तु टिप्स फॉर होम भी ध्यान मे रखे और अमल करे तो काफ़ी फायदा होगा.

Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :)

TAGS: #वास्तु शास्त्र के अनुसार घर #400 vastu tips in hindi #वास्तु शास्त्र के टोटके #सरल वास्तु टिप्स #vastu shastra tips in hindi #vaastu tips #vasthu tips #sarala vastu tips #vastu dosh nivaran #vastu sastra in hindi #vaastu shastra #vastu shastra for home in hindi #vastu shastra hindi tips #घर वास्तु टिप्स #vastu for home in hindi #home vastu shastra in hindi #vastu shastra tips in hindi for home #Vasthu tips

Most Powerful Vashikaran Mantra : वशीकरण के आसान मंत्र

Vashikaran mantra in hindi : Vashikaran yaane ki kisi stri ya purush ko aap ke vash mein kar lena. Prem ek karan hai. Doosra hai ki aap kisi ko vash mein kar ke us par apna haq jamane chahe. Agar aap kisi ko bahut hi chahte hai magar woh vyakti aap ko reciprocate na kare to samanya tarike kaam nahin karenge. Aise samay par vashikaran mantra in hindi (वशीकरण मंत्र) apnaye aur dekhiye jaado kaise chal jaata hai aur wo vyakti kaise sammohit hota hai.

Most Powerful Vashikaran Mantra : वशीकरण के आसान मंत्र

Yeh tantrik kriya hai isliye niyamo ka palan karna jaroori hai. Aise to kai vashikaran mantra hai aur aap kai devi jaise ke baglamukhi ka jaap aur tap kare to man chaha paa sakenge magar yeh kaam mushkil hai. Vashikaran mantra (वशीकरण मंत्र) thoda sa aasaan hai. To aaye dekhe alag alag mantra aur vashikaran karne ka tarika hindi me.



Vashikaran Mantra (वशीकरण मंत्र) in Hindi for Lady:-


Yeh hai ladki ko vash me karne ka mantra:
  •     “Om Hrim Namah”
  •     “Om Chem Hrim Hrim aam ham swaha”

In do mein se koi bhi mantra stri ko akarshit karne ke liye hai.
Lal vastra pehne nahne ke baad aur kumkum ki mala gale mein latkaye. Yeh jaap ek hazaar baar kare ek saptah tak. Jap karte samay us stri ko dhyaan mein rakhe jo aap ka lakshya hai. Us ke baad roj hazaar baar yeh jap kare aur dekhiye wo kaise sammohit ho jaati hai. 

Vashikaran Mantra in Hindi for Men:-


    “Om Hreen Kreem Amukam akarshay vashyam kuru kuru swaha”

Ek shubh din par kumkum, chandan, kesar aur neem ke patto ka mishran banaye aur bhoj patra ke upar gude ka chitra banaye. Khadsopchar vidhi se pooja karna chahiye. Neem ka lakdi le aur hawan kare ghee dalte hue aur mantra ka upchar kare. Gugul ka dhoop bhi kare. Ghee, phool aur gugal ki 110 ahuti kare. Stri ya purush ko dhyaan mein rakhe mantra jap karte samay. Name se vashikaran bhi kiya ja sakta hai.
    “Om Bhra Bhra Bhu Bhairav Swaha, Om Bhan Bhan Bhan Amuk Mohnaya swaha”

  1. Pehle saat baar is mantra ko padhiye. Phir Peepal ke patte par likhe. Jis vyakti ko vashikaran karna hai us ke ghar ke peechwade mein patte ko gaadh de. Aisa nahin ho sakta hai to us ke ghar ke andar daal de.
  2. Poore sabha ko vash mein karna ho to yeh vashikaran mantra apnaye.

    “Kalu muh dhodar karu salam mere nan
    Surma base jo nirkhe so payen pade
    Gosul aajam dastgir ki duhai”

Poore sabha ko vash mein karna ho to yeh mantra apnaye. Shukrawar ke din 125000 gehu ke daane le aur harek daana haath mein rakh ke mantra padhe aur phoonk mare. Aadhe gehu ka atta banake halwa banaye aur phir gausal aajam ko bhog lagaye. Thoda sa khud khaaye. Phir mantra saat bar padh kar aankho mein surma lagaye. Ab aap koi sabha mein jaaye to sabhi log ek saath vash mein ho jayenge.
Vashikaran Mantra for Husband in Hindi


Ab pati ko vash me karne ka totka janiye:-


    “Om Asy sri sundrimantra swarth varn
    Risi iti swhipas swaha”

Stri apne pati ko is mantra dwara vash kar sakti hai. Roj 108 baar is mantra 108 din take jap kare. Pati vash mein rahega aur patni sukhi hogi.
Most Powerful Vashikaran Mantra

Yeh hai premi ko vash me karna ka mantra:-


    “Om namoh bhagwate kamdevay yasya yasya dashyo bhavami
    Yasach yasach mam much paschyati tat a mohyatu swaha”

Yeh mantra ki ko apne taraf akarshit karne ke liye hai.  Roj 1008 bar jap kare. 90 din ke andar jis ko dhyaan mein rakha hai who aap ke taraf akarshit hoga ya hogi. Photo se vashikaran in hindi mein bata rahe hai usmein bhi yahi mantra ka jaap kiya ja sakta hai.

Vash me karne ke totke in hindi: Mantra na kar sake to totke hai, jaise ki choti elaichi, kangani, kakdisingi, sindoor, lal chandan ka mishran karke dhoop kare to stri ko yeh dhoop dene se woh vash mein ho jaayegi.

Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :) 

TAGS : #kamdev vashikaran mantra in hindi #stri vashikaran mantra hindi me #sidh vashikaran mantra #pati vashikaran mantra #powerful vashikaran mantra #mohini vashikaran mantra #vashikaran mantra in hindi for men #vashikaran mantra for love marriage #vashikaran mantra by name in hindi #vashikaran mantra for wife #simple vashikaran mantra in hindi #pati vashikaran mantra hindi language #vashikaran mantra for love back #most powerful vashikaran mantra #love vashikaran mantra

जाने दही खाने के 12 बेहतरीन फायदे और खूबियाँ | Dahi ke Faayde

Good Morning Dosto., Aaj hum baat krte hai Dahi ke Faaydo ke baare me., Jee haan Dahi ek esi chij hai jo lgbhg hr insaan ko psnd hai., to chliye aaj hum जाने दही खाने के 12 बेहतरीन फायदे और खूबियाँ se faaydo se rubru ho jaaye.

  1. Dahi mai calcium hone ki wajah se hadiyo(bones) ki mazbuti badhti hai.
  2. Dahi se baalo ki 5 minute tak maalish kare phir naha le. Aesa  karne se baal shiny aur silky ho jaaenge.
  3. Dahi khane se body ka cholestrol level kam hota hai. Iski wajah se heart problems ka khatra kam hota hai.
  4. Dahi khane se digestion mai sudhaar aata hai.
  5.  Dahi aur besan ko mix karke body mai malish kare aur kuch der baad naha le. Aesa karne se paseene ki badbu se rahat milegi.
  6. Roz ek katori dahi khaane se neend na aane ki shikayat dur hoti hai.
  7. Chaach ya lassi peene se pet ki garmi dur hoti hai aur sharir mai paani ki kami bhi nahi hoti.
  8. Dahi mai heeng ka chok lagakar khaane se jodo ke dard mai rahat milti hai.
  9. Dahi mai kishmish, badaam ya chuhara milakar khaane se wazan badhane mai help miti hai.
  10. Dahi mai nimbu ka ras milakar body par lagane se skin mai glow aata hai chehra chamak jaate hai.
  11. Dahi ki malai ko muh ke chaalo par din mai 2 se 3 baar lgane se muh ke chaale dur ho jaate hai.
  12. Dahi mai kaali mirch powder milakar sir dhoye isse dandruff kam hoga, aesa hafte mai do baar kare.

Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :)

Tage: #Dahi ke faayde, #Dahi ke gun, #Dahi ke faayde hindi me, #Hindi me haankari, #Hindi Bhandar

नींबू के छिलकों के 10 फायदे जरूर जाने | Nimbu ke chilke se hone wale faayde

Hello Friends, HIndi Bhandar aaj Nimbu ke chilke se hone wale faayde ke baare me aapko btane jaa rha hai. Aapne ye to suna hi hoga ki hmare purvaj jb kbhi bhi bimar hote they tb medicine dwaiya bhut km lete they or ghrelu nuske jyada apnate they, iske piche ye wajah hai ki hmare bharat desh prachin kaal se hi Aayrved ka gyata rha hai. Arastu ke time se hi lgbhag sbhi bimariyo ka ilaz hmare pas mojud tha. Is sb ki wajah yhi hai ki hme Plants se prapt hone wale faaydo ke baare me jaankari rhi hai. To chliye ab baat krte hai Nimbu ke chilke se prapt hone wale faayde ke bare me नींबू के छिलकों के 10 फायदे जरूर जाने Hindi me.



नींबू के छिलकों के 10 फायदे जरूर जाने
  1. Nimbu ke chilke me 5 se 10 guna adhik vitamin C hota hai aur vahi hum fenk dete hai.
  2. Nimbu ke chilke me sharir ke sabhi vish dravy ko baahar nikalne ki shamta hoti hai.
  3. Nimbu ka chilka 12 se jyada prakar ke cancer me puri tarah prabhavi hai aur vo bhi bina kisi side effect ke.
  4. नींबू के छिलके मेँ काफी मात्रा में फ्लेवानॉयड होते हैँ जो मनुष्य के शरीर से स्ट्रेस को दूर कर देते है।
  5. नींबू के छिलके कैंसर से भी लड़ने मे मददगार होते है। Nimbu ke chilke me 5 se 10 guna adhik vitamin C hota hai aur vahi hum fenk dete hai.
  6. Nimbu ke chilke me sharir ke sabhi vish dravy ko baahar nikalne ki shamta hoti hai.
  7. Nimbu ka chilka 12 se jyada prakar ke cancer me puri tarah prabhavi hai aur vo bhi bina kisi side effect ke.
  8.  नींबू के छिलके मेँ काफी मात्रा में फ्लेवानॉयड होते हैँ जो मनुष्य के शरीर से स्ट्रेस को दूर कर देते है।
  9. नींबू के छिलके कैंसर से भी लड़ने मे मददगार होते है। 

Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :)

Tags:- #Hindi bhandar, #Hindi me jaankari, #Hindi me nimbu ke faayde, #Nimbu ke gun, #Gharelu nuskhe, #Home Tips in Hindi

नींबू के बारे मे ये ज़रूरी है जानना | Nimbu se hone wale faayde

Hello Friends, HIndi Bhandar aaj Nimbu se hone wale faayde ke baare me aapko btane jaa rha hai. Aapne ye to suna hi hoga ki hmare purvaj jb kbhi bhi bimar hote they tb medicine dwaiya bhut km lete they or ghrelu nuske jyada apnate they, iske piche ye wajah hai ki hmare bharat desh prachin kaal se hi Aayrved ka gyata rha hai. Arastu ke time se hi lgbhag sbhi bimariyo ka ilaz hmare pas mojud tha. Is sb ki wajah yhi hai ki hme Plants se prapt hone wale faaydo ke baare me jaankari rhi hai. To chliye ab baat krte hai Nimbu ke chilke se prapt hone wale faayde ke bare me नींबू के 9 फायदे जरूर जाने Hindi me.

नींबू के बारे मे ये ज़रूरी है जानना


  1. Kohni par nimbu ke chilke se ragadne se unka kalapan dur hoga.
  2. Chehre ke daag dhabbe hatane hai to kacha doodh aur nimbu ka ras milakar lagaye.
  3. Nimbu mai vit C paya jata hai jiske sewan se hamari haddiya mazboot hoti hai.
  4. नींबू के छिलके मेँ कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते है। जो वजन कम करने मे भी मददगार साबित होते है।
  5. चेहरे को साफ और चमकदार बनाने के लिए नींबू के छिलके का कोई सानी ही नहीँ है।
  6. नींबू के छिलके चेहरे के गड्ढे और काले निशान के लिए भी बहुत फायदेमंद है।
  7. Nimbu ke ras ko baalo mai lagane se bhi baalo ki rusi dur hoti hai.
  8. Agar aapki tawacha oily hai to nimbu ka tas lagaye usse aapki skin normal ho jaegi.
  9. Pet ki pareshani ko dur karne ke liye nimbi shahad piye..




Dosto., Ye post aapko kaisa lga., please apna feedback cooment me zarur de., or agar aapke pas bhi koi intresting valuble hindi post hai to hme email me bheje, hum aapke post ko HindiBhandar me shamil krenge.. Thank you. :)

Tags:- #Hindi Bhandar, #Nimbu ke faayde, #Nimbu ke faayde Hindi me, #Hindi me jaankari, #Ghrelu nushke, #Health tips, #Health tips in Hindi, #नींबू के बारे मे ये ज़रूरी है जानना, #नींबू के बारे मे, #नींबू के बारे मे ये जानना,